NRC Kya Hai Puri Jankari ,क्यों मचा है इस पर हंगामा, पूरी जानकारी

NRC Kya Hai Puri Jankari क्यों मचा है इस पर हंगामा पूरी जानकारी

 

NRC  Kya Hai (NORTH EAST) आज पूरे देश में NRC (National Register of Citizenship) Bill को लेकर हंगामा मचा हुआ ,लोग भी इन्टरनेट पर NRC Kya Hai 2019 , NRC Bill Kya Hai ,एन आर सी का मतलब क्या है, NRC का Full फॉर्म , NRC Bill Kya hai In Hindi से समबन्धित जानकारी प्राप्त करने की कोशिस कर रहे है ,अगर आप भी NRC Bill Kya Hai ,जानना चाहते है तो इस पोस्ट में NRC की पूरी जानकारी प्रदान की गयी है.

NRC(भारतीय राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) का मतलब नागरिकता से है ,नागरिक उसे कहते है जिसे देश के सरकार द्वारा उस व्यक्ति सभी मूल अधिकार प्रदान किये जाते है ,नागरिक ही देश में सरकारी नौकरी और वोट दे सकते है ,बाकि जो देश के नागरिक नही है उन्हें सरकारी नौकरी और वोट देने का अधिकार नही है .आज का NRC Bill मुख्यता देश में असम राज्य से जुड़ा हुआ है,

बताया जाता है कि देश की पूर्वी सीमा पर स्थित भारत के असम राज्य में पड़ोसी देश के नागरिक आकर बस रहे है ,ऐसे में हमें जरुरत है हमे अपने देश के नागरिको के पहचान की ,क्योकि दुसरे देश से आये व्यक्ति अगर हमारे देश में बसते गए तो हमारे लिए मुश्किलें खड़ी हो सकती है जिसके लिए यह जानना आवश्यक हो गया है कि कौन भारत का नागरिक और कौन विदेशी है | इसे पहले भी भारत में कई बार आतंकी हमला हुआ है ,ऐसे में जरुरत है हमे अपने देश के नागरिको की पहचान की .इसके लिए संविधान में नागरिकता सम्बन्धी कानून बनाये गए है,इसे ही NRC (National Register of Citizenship) कहते है . इस पेज पर NRC बिल क्या है, National Register of Citizenship (NRC),NRC Bill Kya Hai in Hindi, के विषय में जानकारी प्रदान की जा रही है .


असम में बांग्लादेश से आए घुसपैठियों पर बवाल के बाद सुप्रीम कोर्ट ने एनआरसी अपडेट करने को कहा था। पहला रजिस्टर 1951 में जारी हुआ था। ये रजिस्टर असम का निवासी होने का सर्टिफिकेट है। इस मुद्दे पर असम में कई बड़े और हिंसक आंदोलन हुए हैं। 1947 में बंटवारे के बाद असम के लोगों का पूर्वी पाकिस्तान में आना-जाना जारी रहा। 1979 में असम में घुसपैठियों के खिलाफ ऑल असम स्टूडेंट्स यूनियन ने आंदोलन किया। इसके बाद 1985 को तब की केंद्र में राजीव गांधी सरकार ने असम गण परिषद से समझौता किया। इसके तहत 1971 से पहले जो भी बांग्लादेशी असम में घुसे हैं, उन्हें भारत की नागरिकता दी जाएगी।

2015 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर इसमें तेजी आई। इसके बाद असम में नागरिकों के सत्यापन का काम शुरू हुआ। राज्यभर में एनआरसी केंद्र खोले गए। असम का नागरिक होने के लिए वहां के लोगों को दस्तावेज सौंपने थे।

राजनाथ सिंह ने कहा कि हो सकता है कि कुछ लोग अनिवार्य दस्तावेज जमा ना करा पाए हों तो उन्हें दावों और आपत्तियों की प्रक्रिया के जरिए पूरा मौका दिया जाएगा। दावों और आपत्तियों के निस्तारण के बाद ही अंतिम एनआरसी लिस्ट जारी किया जाएगा और यहां तक कि इसके बाद भी हर व्यक्ति को विदेशी न्यायाधिकरण का दरवाजा खटखटाने का मौका मिलेगा। NRC Bill संसद में पेश किये जाने के बाद विरोधी दलों ने इस बिल का विरोध करना शुरू किया ,जबकि केंद्र सरकार के अनुसार अंतिम एनआरसी बिल 31 दिसंबर से पहले जारी की जा सकती है।


NRC Kya Hota Hai – भारतीय नागरिक कौन हो सकता है

भारतीय नागरिक कौन हो सकता है

भारतीय संविधान के विभिन्न अनुच्छेदों के जरिए, नागरिकता को परिभाषित किया गया है. भारतीय संविधान के अनुच्छेद 5 से लेकर 11 तक नागरिकता को परिभाषित किया गया है.

इन अनुच्छेद का संशोधन का अधिकार सिर्फ भारतीय संसद को है. भारतीय संसद नागरिकता को परिभाषित करने के लिए नया कानून बना सकता है. लेकिन भारतीय संविधान की खुशबू यह है कि, मूल तत्वों को भारतीय संविधान से हटाया या बदला नहीं जा सकता है.

भारतीय संविधान के मूल तत्वों को बचाने की जिम्मेदारी भारत के सर्वोच्च न्यायालय को है. यही कारण है कि एनआरसी कानून में संशोधन के बाद कई बार सुप्रीम कोर्ट का बेहद चौंकाने वाला फैसला आया था.

नागरिकता को परिभाषित करने के लिए अब तक चार बार इस बिल में संशोधन हो चुका है. पहला संशोधन 1955, और आखरी संशोधन 2015 में हो चुका है.

इमारत शरिया ने एनआरसी के संबंध में यह गाइडलाइंस जारी किया है. इस इमेज को डाउनलोड करके जरूरतमंद लोगों तक भेजें.

आर्टिकल – 6

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 6 के तहत, पाकिस्तान से भारत आए लोगों की नागरिकता को पारिभाषित करता है. इसके अनुसार 19 जुलाई 1949 से पहले पाकिस्तान से भारत आए लोग भारत के नागरिक माने जाएंगे.

आर्टिकल – 7

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 7 के तहत, पाकिस्तान जाकर वापस लौटने वाले लोगों के लिए है. इसके मुताबिक 1 मार्च 1947 के बाद अगर कोई व्यक्ति पाकिस्तान चला गया था. लेकिन लेकिन रिसेटेलमेंट परमिट के साथ तुरंत वापस लौट गया हो वह भी भारत की नागरिकता प्राप्त करने का पात्र है.

आर्टिकल – 8

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 8 के तहत, भारतीयों की नागरिकता को लेकर है. इसके मुताबिक विदेश में पैदा हुए बच्चे को भी भारतीय नागरिक माना जाएगा.

अगर उसके मां-बाप या दादा-दादी में से से कोई एक भारतीय नागरिक हो. ऐसे बच्चे को नागरिकता हासिल करने योग्य है.

आर्टिकल – 9

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 9 के तहत,भारत की एकल नागरिकता को लेकर है. इस कानून के अनुसार अगर कोई भारतीय नागरिक किसी और देश की नागरिकता ले लेता है तो उसकी भारतीय नागरिकता अपने आप समाप्त हो जाएगी.

आर्टिकल – 10

संविधान के अनुच्छेद 10 में नागरिकता को लेकर संसद को अधिकार है. इसके अनुसार अनुच्छेद 5 से लेकर 9 तक के नियमों का पालन करने वाले भारतीय नागरिक होंगे.

इसके अलावा केंद्र सरकार के पास नागरिकता को लेकर और नियम बनाने का अधिकार होगा. सरकार नागरिकता को लेकर जो भी नियम बनाएगी उसके आधार पर किसी को नागरिकता दी जा सकेगी या समाप्त की जा सकती है.

आर्टिकल – 11

संविधान के अनुच्छेद 11 संसद को नागरिकता पर कानून बनाने का अधिकार देता है. इस अनुच्छेद के तहत किसी को नागरिकता देना या उसकी नागरिकता खत्म करने संबंधी कानून बनाने का अधिकार भारत की संसद के पास पूर्ण रूप से होगा.

 

 

 

NRC  Document REQUIREMENTS

एनआरसी के लिए कौन कौन से डॉक्यूमेंट चाहिए इसके लिए भारत सरकार के तरफ से अभी कोई अधिसूचना जारी नहीं हुआ है. परंतु असम में जिस प्रकार से एनआरसी के लिए डाक्यूमेंट्स की रिक्वायरमेंट को देखा गया है. आपके साथ एक्सपीरियंस शेयर कर सकता हूं.

आज के समय हर किसी को पता है कि आपके पास आधार कार्ड व वोटर आईडी कार्ड आदि होने चाहिए. क्या सिर्फ यह डोकोमेंट आपका नागरिकता को प्रमाणित कर देगा. ऐसा बिल्कुल नहीं है.

यह डॉक्यूमेंट आपका आइडेंटी प्रूफ या एड्रेस प्रूफ के लिए बना है. भारतीय नागरिक होने का प्रमाणिकता यह डोकोमेंट्स पूरी तरह नहीं देता है.

आपको यह सिद्ध करना है कि आप और आपके पूर्वज भारत में पिछले 50 या उससे अधिक सालों से रहते हैं. ऐसे डाक्यूमेंट्स की तैयारी कीजिए. जो यह सिद्ध करता है कि आपके दादा प्रदाता भारतीय नागरिक थे.

आप के डाक्यूमेंट्स में पिता एवं माता का नाम का स्पेलिंग सही होना चाहिए. ताकि आप आसानी से प्रमाणित कर सकें कि मेरे माता-पिता भारत में पिछले 50 या उससे ज्यादा सालों से रहते हैं.

Note: Just information Articles

0Shares

47 thoughts on “NRC Kya Hai Puri Jankari ,क्यों मचा है इस पर हंगामा, पूरी जानकारी

  1. A fascinating discussion is worth comment. I do believe that you ought to write more about this subject, it may not be a taboo subject but usually people do not speak about these subjects. To the next! All the best!!

  2. 732854 649870Somebody necessarily assist to make seriously articles I may well state. That is the very initial time I frequented your web page and to this point? I surprised with the research you created to make this actual put up wonderful. Fantastic task! 677415

  3. 96557 287092hi!,I like your writing so significantly! share we keep up a correspondence extra approximately your post on AOL? I demand a specialist on this space to solve my dilemma. Might be that is you! Seeking ahead to peer you. 897189

  4. whoah this blog is wonderful i really like reading your articles. Keep up the great paintings! You realize, a lot of people are hunting round for this info, you could help them greatly.

Leave a Reply

Your email address will not be published.