Post Jobs

ICMR का बड़ा बयान, कहा- कोरोना की वैक्सीन ‘COVAXIN’ की प्रीक्लीनिकल स्टडी सफलतापूर्वक पूरी, भारत में 15 अगस्त को…

ICMR का बड़ा बयान, कहा- कोरोना की वैक्सीन ‘COVAXIN’ की प्रीक्लीनिकल स्टडी सफलतापूर्वक पूरी, भारत में 15 अगस्त को…

नई दिल्ली। कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन (COVAXIN) 15 अगस्त को लॉन्च हो सकती है। आईसीएमआर (इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) ने भारतीय कंपनी भारत बायोटेक द्वारा विकसित कोरोनावायरस की वैक्सीन ‘कोवैक्सीन’ के परीक्षण को मंजूरी देने की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया है। ICMR का कहना है कि वैक्सीन की प्रीक्लीनिकल स्टडी सफलतापूर्वक पूरी हो गई है, अब ह्यूमन ट्रायल के फेज 1 और 2 की शुरुआत होनी है।

दरअसल, फार्मास्यूटिकल कंपनी भारत बायोटेक और भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद यानी आईसीएमआर की तरफ से इस वैक्सीन की लॉन्चिंग संभव है।

वैक्सीन को लेकर ICMR ने शनिवार को एक बयान जारी किया है। ICMR ने कहा कि सार्वजनिक स्वास्थ्य हित में हमारे लिए यह महत्वपूर्ण है कि एक स्वदेशी वैक्सीन के ​परीक्षणों में तेजी लाई जाए, वैक्सीन को लेकर ICMR की प्रक्रिया विश्व स्तर पर स्वीकृत मानदंडों के अनुसार ठीक है। इस वैक्सीन को 15 अगस्त तक भारत में लॉन्च करने की योजना है।

आईसीएमआर ने चुनिंदा अस्पतालों से कहा है कि वे भारत बॉयोटेक के सहयोग से विकसित किए जा रहे संभावित टीके ‘कोवैक्सीन’ को परीक्षण के लिए मंजूरी देने की प्रक्रिया तेज करें। ICMR का कहना है कि हमारा उद्देश्य जल्द से जल्द वैक्सीन के सभी चरणों को पूरा करना है, ताकि बिना किसी देरी के जनसंख्या आधारित परीक्षणों की शुरुआत की जा सके। बता दें कि हाल ही में कोवैक्सीन को ह्यूमन ट्रायल की इजाजत मिली है।

भारत के पहले स्वदेशी संभावित कोविड-19 टीके ‘कोवैक्सीन’ को डीसीजीआई से मानव पर परीक्षण की हाल में अनुमति मिली है। ‘कोवैक्सीन’ को हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक ने भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) और राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (एनआईवी) के साथ मिलकर विकसित किया है। आईसीएमआर की ओर से जारी लेटर के मुताबिक, 7 जुलाई से ह्यूमन ट्रायल के लिए इनरोलमेंट शुरू हो जाएगा. इसके बाद अगर सभी ट्रायल सही हुए थे तो आशा है कि 15 अगस्त तक कोवैक्सीन को लॉन्च किया जा सकता है।

0Shares
0Shares