Happy Engineers Day 2019: कौन हैं एम विश्वेश्वरैया जिनकी जयंती पर मनाया जाता है इंजीनियर्स डे

Happy Engineers Day 2019: कौन हैं एम विश्वेश्वरैया जिनकी जयंती पर मनाया जाता है इंजीनियर्स डे

Happy Engineers Day 2019: आज इंजीनियर्स डे है. एम विश्वेश्वरैया की जयंती के मौके पर हर साल 15 सितंबर (15 September) को इंजीनियर्स डे (Engineers Day) मनाया जाता है. विश्वेश्वरैया (M. Visvesvaraya) पूरी दुनिया के इंजीनियर्स के लिए मिसाल हैं. विश्वेश्वरैया ने कई महत्वपूर्ण कार्यों जैसे नदियों के बांध, ब्रिज और पीने के पानी की स्कीम आदि को कामयाब बनाने में अविस्‍मरणीय योगदान दिया है. 1955 में उन्हें (M. Visvesvaraya) भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से विभूषित किया गया था. उनके प्रयासों से ही कृष्णराज सागर बांध, भद्रावती आयरन एंड स्टील वर्क्स, मैसूर संदल आइल एंड सोप फैक्टरी, मैसूर विश्‍वविद्यालय, बैंक ऑफ मैसूर का निर्माण हो पाया. एम विश्वेश्वरैया का जन्म 15 सितंबर 1861 को मैसूर के कोलार जिले स्थित चिक्काबल्लापुर तालुक में एक तेलुगु परिवार में हुआ था. उनके पिता श्रीनिवास शास्त्री संस्कृत के विद्वान और आयुर्वेद चिकित्सक थे. विश्वेश्वरैया की मां का नाम वेंकाचम्मा था.

विश्वेश्वरैया ने प्रारंभिक शिक्षा जन्मस्थान से ही पूरी की. आगे की पढ़ाई के लिए उन्होंने बंगलूर के सेंट्रल कॉलेज में प्रवेश लिया. विश्वेश्वरैया ने 1881 में बीए की परीक्षा में अव्वल स्थान प्राप्त किया. इसके बाद मैसूर सरकार की मदद से इंजीनियरिंग की पढ़ाई के लिए पूना के साइंस कॉलेज में दाखिला लिया. 1883 की एलसीई व एफसीई (वर्तमान समय की बीई उपाधि) की परीक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करके अपनी योग्यता का परिचय दिया. इसी उपलब्धि के चलते महाराष्ट्र सरकार ने इन्हें नासिक में सहायक इंजीनियर के पद पर नियुक्त किया.

जब वह केवल 32 वर्ष के थे, उन्होंने सिंधु नदी से सुक्कुर कस्बे को पानी की पूर्ति भेजने का प्लान तैयार किया जो सभी इंजीनियरों को पसंद आया. सरकार ने सिंचाई व्यवस्था को दुरुस्त करने के उपायों को ढूंढने के लिए समिति बनाई. इसके लिए एमवी ने एक नए ब्लॉक सिस्टम को ईजाद किया. उन्होंने स्टील के दरवाजे बनाए जो कि बांध से पानी के बहाव को रोकने में मदद करता था. उनके इस सिस्टम की प्रशंसा ब्रिटिश अधिकारियों ने मुक्तकंठ से की. आज यह प्रणाली पूरे विश्व में प्रयोग में लाई जा रही है. विश्वेश्वरैया ने मूसा व इसा नामक दो नदियों के पानी को बांधने के लिए भी प्लान तैयार किए. इसके बाद उन्हें मैसूर का चीफ इंजीनियर नियुक्त किया गया.

विश्वेश्वरैया शिक्षा की महत्ता को भलीभांति समझते थे. लोगों की गरीबी और कठिनाइयों का मुख्य कारण वह अशिक्षा को मानते थे. उन्होंने अपने कार्यकाल में मैसूर राज्य में स्कूलों की संख्या को 4,500 से बढ़ाकर 10,500 कर दिया. इसके साथ ही विद्यार्थियों की संख्या भी 1,40,000 से 3,66,000 तक पहुंच गई. मैसूर में लड़कियों के लिए अलग हॉस्टल और पहला फ‌र्स्ट ग्रेड कॉलेज (महारानी कॉलेज) खुलवाने का श्रेय भी विश्वेश्वरैया को ही जाता है.

मैसूर में ऑटोमोबाइल और एयरक्राफ्ट फैक्टरी की शुरूआत करने का सपना मन में संजोए विश्वेश्वरैया ने 1935 में इस दिशा में कार्य शुरू किया. बंगलूर स्थित हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स तथा मुंबई की प्रीमियर ऑटोमोबाइल फैक्टरी उन्हीं के प्रयासों का परिणाम है. 1947 में वह आल इंडिया मैन्युफैक्चरिंग एसोसिएशन के अध्यक्ष बने. वह किसी भी कार्य को योजनाबद्ध तरीके से पूरा करने में विश्वास करते थे.

जब वह 100 वर्ष के हुए तो भारत सरकार ने डाक टिकट जारी कर उनके सम्मान को और बढ़ाया. 101 वर्ष की दीर्घायु में 14 अप्रैल 1962 को उनका निधन हो गया.

0Shares

11 thoughts on “Happy Engineers Day 2019: कौन हैं एम विश्वेश्वरैया जिनकी जयंती पर मनाया जाता है इंजीनियर्स डे”

  1. 866025 211776Im not certain exactly why but this web internet site is loading incredibly slow for me. Is anyone else having this problem or is it a difficulty on my finish? Ill check back later and see if the problem nonetheless exists. 980723

  2. Nice weblog here! Additionally your site so much up very fast!

    What host are you using? Can I am getting your associate link
    to your host? I desire my site loaded up as fast as yours lol

  3. You’ve made some really good points there. I
    looked on the web to learn more about the
    issue and found most individuals will go along with your views on this website.

  4. Have you ever considered about including a little bit more than just your articles? I mean, what you say is fundamental and all. But think about if you added some great photos or videos to give your posts more, “pop”! Your content is excellent but with pics and video clips, this website could definitely be one of the most beneficial in its niche. Awesome blog!

  5. Hello! I understand this is somewhat off-topic however I had
    to ask. Does operating a well-established website such as
    yours take a massive amount work? I’m completely new
    to blogging however I do write in my diary on a daily basis.
    I’d like to start a blog so I can easily share my personal experience and views online.
    Please let me know if you have any kind of recommendations or tips for new aspiring blog owners.
    Thankyou!

Leave a Comment

Your email address will not be published.